Women Empowerment, women empowerment in rural india, women education


महिला सषक्तीकरण
समाज में महिलायों की प्रस्थिति एव ंउनके अधिकारों में वृद्धि ही महिला सषक्तीकरण है। महिला जिसे कभी मात्र
भोग एर्व संतान उत्पत्ति की जरिया समझा जाता था,आज वह पुरूशो के साथ हर क्षेत्र में कंधे से कंधा मिलाकर खड़ी है।
जमीन से आसमान तक कोई क्षेत्र अछूता नही है,जहाँ महिलायों ने अपनी जीत का परचम न लहराया हो। हालांकि यहाँ तक का सफर तय करने के लिए महिलाओ को काफी मुष्किलों एवं सधर्श के दौर से गुजरना पड़ा है।
औरत और नारी के बीच की कषमकष से संघर्श करती आज की स्त्री में छटपटाहत है आगे बढने की,जीवन एवं समाज के
प्रत्येक क्षेत्र में कुछ कर गुजरने की अपने अविराम अथक परिश्रम से पूरी दुनिया में एक नया सवेरा लाने की और एक
ऐसी सषक्त इबारत लिखने की,बल्कि पूरे विष्व में मुख्यतःव्याप्त पुरूश प्रधान समाज ने एक समाज से लेकर आधुनिक समाज तक आधी दुनिया के प्रात ऐसा भेदभावपुर्ण नजरिया रखा गया,जिसने कभी भी स्त्रियों को एक व्यक्ति के रूप में
स्वीकार नही किया । उसे या तो देवी बनाया गया या फिर भेाग्य वस्तु । उसके व्यक्तित्व को उभरने का अवसर तो प्रदान ही नही किया गया।
प्रसिद्व कवि जयषंकर प्रसाद ने लिखा है:-
‘‘ नारी तुम केवल श्रद्वा हो,विष्वास रजत नग पग तल में,
यूँ पीयूश सा्रेत-सी बहा करो,जीवन के सुन्दर समतल में।
आज की स्त्री न केवल पुरूशों के साथ कन्धे -से कंन्धा मिलाकर चलना चाहती है,बल्कि वह जीवन के प्रत्येक क्षेत्र में बहुत आगे तक जाना चाहती है, जहाँ उसके उन्मुक्तता,सृजन एवं सबलता का अहसास हो, जहाँ उसकी प्रतिभा की पहचान हो और जहाँ उसके व्यक्तिगत का निर्माण हो। कुछ लोग वि़़द्यामान तथ्यों को देखकर कहते है, क्यो ? जबकि वह उन तथ्यों का स्वप्न देखती है,जो अस्तित्व में नही ह्रै और कहती है क्यो नही आज की स्त्री उन्मुक्त उडान भरने के लिए व्याकुल है,
नई सीमा को परिभाशित करने के लिए सचेत है और अपनी क्षमताओं का पूर्ण प्रदर्षन करने के लिए क्रृतसंकल्प । उसके
मार्ग में आने वाली बाधाएँ अब उसकी दृढ इच्छा षक्ति के आगे टिक नही पाती।
उसने स्वयं को सीमित ही सही,लेकिन उस मुकाम पर स्थापित कर दिया है,जहाँ पुरूश प्रधान मानसिकता या समाज उसके व्यक्तित्व को नकार नही सकता, इसके बावजूद उसे अभी मीलों लम्बा सफर तय करना है,जो कटकपूर्ण एवं दुर्गम है,
लेकिन वह मानती है कि:--
‘‘ वह पथ क्या, पथिक कुषलता क्या ?
जिसमे बिखरे षूल न हों,
नविक की धैर्य-परीक्षा क्या ?
यदि धाराएँ प्रतिकूल न हो।‘‘
विविद फाउडेषन के द्वारा काफी महिलायों को आगे बढ़ाने के लिए काफी अथक प्रयास कर रहे है, आप को जानकार अधिक खुषी होगी कि हम महिलायो को स्वरोजगार बनाने के लिए अधिक प्रयास कर रहे है,महिलायो को भी अपना
जीवन जीने का पूरा अघिकार है,

Executive Members





 



 



 

Vivid Foundation - ICT

 This page is under constrution

Merger of India' biggest Strengths IT and Culture at www.chhathpuja.co

Vivid Foundation Initiated to merge country's biggest strengths IT and Culture at www.chhathpuja.co/. This is the 1st cultural community web portal, where anyone can come and get the positive spectrum of various festivals. www.chhathpuja.co provides ample opportunity to understand significance of Festivals at different level and benefited users at their spirituality.

www.ChhathPuja.co also enable users to chat with each other and share wall, pictures, and upload videos.

In Second Phase Vivid Foundation will organise E-Prarthana to the users who are far away from the pilgrim places and wish to ask to the concern God/Godess.

Vivid Foundation

Vivid Foundation - Rural Development


ग््राामीण विकास
ग््राामीण या गाँव के बारे में हम सभी जानते हैं कि गाँव या देहात का क्षेत्र काफी पिछड़े इलाके में आता है। ग्रामीण क्षेत्रों मे खेती का कार्य सबसे अधिक किया जाता है। गाँव मे लोगो का प्रमुख साधन खेती माना जाता है। यह लोगो की प्रमुख आजीविका हैं। खेती से गेहूँ,चावल,गन्ना आदि का उत्पादन बड़ी मात्रा में किया जा रहा है,लेकिन आज भी हम पुरानी तकनीकी का उपयोग कर रहे है। इस तरफ किसी का ध्यान नही दिया जा रहा है। सरकार भी काफी कार्य कर रही है लेकिन खास फर्क दिखाई नही दे रहा है। ग्रामीण क्षेत्र मे आज भी स्कूलों,अस्पतालों
षौचलय ,थाने की कमी पाई जाती है जिससे षिक्षा का स्तर गिर गया है और अस्पतालों में भी
काफी बुरी हालात मे पाये जाते हैं। ग्रामीण का विकास को बड़ी तेजी से बढ़ाने के लिए सरकार को बढ़ चढकर काम करना पडे़गा । विविड फाउडेषन ग्रामीण विकास के कार्य को बढ़ चढकर भाग ले रही है। विविड फाउडेषन अलग- अलग प्रकार की सुविधा पहुंँचा रही
है जिससे लोगो को काफी सहायता मिल रही है। इन सब का फायदा अधिक - अधिक ले पा रहे जिससे प्रतिभा को कमी न सके। इन सब काम को हम विविड फाउडेषन के अथक प्रयास से यह कार्य संभव हो पा रहा है। गाँव मेे कुटीर उद्योगो को अधिक पहुँचाने का कार्य करना
और उन्हें स्वरोजगार बनाया जा रहा है। महिलाओं को भी आगे बढने के अवसर दिये जा रहे है जिससे महिलायों का आत्मविष्वास बढ़ रहा है। लोगो में जागरूक होते नजर आ रहे है। और
विविड फाउडेषन लोगों के दिल में जगह बनाती जा रही है।

 

Contact us

 Vivid Foundation 
 Ground Floor, Mukundpur 
Delhi 110042 India
 P:- 011-65446600, +91 9811442146
 

 

JoomShaper